त्रिफला क्या है और इसके औषधिओ गुणों के बारे में जानकारी(What is Triphala and its medicinal properties Information)


त्रिफला क्या है और इसके औषधिओ गुणों के बारे में जानकारी
What is Triphala and its medicinal properties Information. 




त्रिफला का परिचय( Introduction to Triphala)त्रिफला हमारे लिए बहुत लाभदायक है,आजकल की दौड़भरी जिंदगी में हम अपनी सेहत को नज़र अंदाज कर देते है!जिस कारण हम लोग किसी न किसी रोग से ग्रसित रहते हैं!कभी सिर दर्द,कब्ज ,टेंशन,थकान,रक्तचाप,आदि! क्या आपको पता है ये सभी रोग हमारे पेट से शुरू होते है,पर हम इन रोगों को हलके में लेते रहते है!आयुर्वेद में एक औषधि जिसे त्रिफला कहते है,इसका वर्णन चरक ऋषि द्वारा चरक सहिंता में किया गया है!इसका प्रयोग करने से हमारे सभी दोष वाट,पित,कफ संतुलन में रहते हैं! शरीर में सभी रोग इनका संतुलन बिगड़ने से आते हैं!

त्रिफला कैसे बनता है (How is triphala made) त्रिफला तीन फलों  का मिश्रण है जिससे इसका नाम त्रिफला रखा गया है! जिसमें आवलाँ,हरड़,बहेड़ा शामिल है! इसको तीनो फलों को अलग-अलग मात्रा में मिला कर बनाया जाता है! आयुर्वेद में इसे बनाने की विधि 1 हिस्सा बहेड़ा, २ हिस्से हरड़,3 हिस्से आवलाँ का इस्तेमाल कर्मानुसार करें,इस औषधि का का प्रयोग करने से सभी रोग जड़ से समापत हो जाते हैं इस औषधि का हमारे शरीर पर कोई साइड इफ्फेक्ट नहीं होत!तीनो चीजों को कूट कर इसका चूरन तैयार किया जाता है! जिसे त्रिफला चूर्ण कहा जाता है !

 शरीर पर किस तरहकरता है काम (How does it work on the body) त्रिफला चूर्ण हमारे पेट जाकर हमारी आँतों को साफ करता है,यह हमारे पेट सबंधी सभी समस्याओं जैसे गैस,एसिडिटी,बदहजमी,कब्ज आंतों के रोग को ठीक करने में सहायक है!जिससे हमारा हाजमा सही रूप से कार्य करता है!और शरीर तंदरुस्त हो जाता है! इसमें विटामिन सी, आयरन एंटीऑक्सीडेंट ,गोलिक एसिड पाए जाते हैं !जो हमारे शरीर से कचरा मल मूत्र के रूप बहार निकाल देता है!

त्रिफला का सेवन कैसे करें (How to consume triphala) त्रिफला एक ऐसी औषधि है जिसका प्रयोग कोई भी कर सकता है!अलग अलग अवस्थाओं मैं इसे लेने का तरीका बदल दिया जाता है, जिससे यह सही रूप से काम कर सके,इसको अगर सुबह खाली पेट गुड के साथ लिया जाए तो यह शरीर को पोषण देता है! कब्ज जैसी स्तिथि मैं इसे रत को सोते समय दूध के साथ 5 ग्राम की मात्रा में लेना चाहिए! यह दूध के साथ लेने से पोषण का काम करता है!सामान्य अवस्था में इसे ताजे पानी के साथ सुबह खाली पेट लेना चाहिए! दोस्तों  शरीर मैं कब्ज को कभी नहीं बनने देना चाहिए!क्योंकि अगर कब्ज होगी तो आपको अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा!स्वस्थ रहने के लिए पेट साफ रखें !

त्रिफला चूर्ण  के फायदे (Benefits of triphala powder) 

  1. त्रिफला रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है! यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ावा देता है,यह हमारे पेट के कीड़ों को मरने मैं सक्षम है जिससे शरीर का हाजमा सही रहता है!
  2. यह मधुमेह के रोगियों के लाभप्रद है!क्योंकि त्रिफला हमारे शरीर में पैंक्रियाज को सही से काम करने में मदत करता है!
  3. अगर आपको कब्ज की समस्या है तो त्रिफला चूर्ण का उपयोग करें इसका 15 से 20 दिन नियमित प्रयोग करने से कब्ज रोग दूर होता है!
  4. त्रिफला खून को साफ़ करता है!इसमें एंटीबैक्टीरिअल गन पाए जाते हैं, जो हमारे रक्त दोषों को दूर करते है!
  5. त्रिफला चूर्ण को सुबह खाली पेट गुड या शहद में मिला कर प्रयोग किया जाये तो यह उमरे शरीर में विटामिनों की कमी को पूरा करता है!
  6. त्रिफला हमारी पाचन शक्ति मजबूत करता है जिससे हमारा भोजन सही से पांच जाता है!
  7. त्रिफला चूर्ण को शहद में मिला कर लेने से कफ सम्बन्धी रोग नष्ट हो जाते है!
  8. त्रिफला का प्रयोग करने से चेहरे पर रंगत आती है! कील मुहासों से रहत मिलती है! इसमें आयरन तथा विटामिन सी शरीर को  रोगों से लड़ने में मदत करता है!
  9. त्रिफला चूर्ण का उपयोग करने से हमारी आंत साफ रहती है! यह शरीर में ग्रहणी रोग में अति लाभदायक है!
  10. त्रिफला मोटापा काम करता है,यह हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल को जमने नहीं देता!  














Post a Comment

0 Comments